Quality Goals in the system development life cycle (SDLC)

SDLC के हर stpes का लक्ष्य quality assurence लाना होता है। जब किसी सिस्टम को बनाया जा रहा होता है तो तो उसके प्रत्येक चरण में बारीकी से जाँच किया जाता है एवं analysis किया जाता है। Quality Assurance लाने के लिए यह जरुरी होता है। Quality Assurance के reference में और निम्न facts है […]

Basic of Electricity Current and Voltage

दोस्तों आज के हमारे इस Topic में हम बात करेंगे Basic of Electricity के बारे में जिसमें हम Electricity में उपयोग होने वाले लगभग सभी Component के बारे में जानेंगे जिससे आप Electricity के बारे में Details से जान पाएँ। क्या है ? कैसे काम करता है? कितने Types के होते हैं। वगैरा – वगैरा…. […]

LED Bulb – Most Important Topic

LED Bulb एक Light Generate करने वाला Device होता है जो आजकल हर घरों में देखने को मिल जाता है। आज सब लोगों ने देखा होगा या आप अपने घर को रोशन करने के लिए उपयोग करते होंगे। चलिये आज हम इसी Led के बारें में बात करेंगे की ये क्या है ? कैसे काम […]

Network – 4 Types Classification of Network

Computer Network में किसी topology द्वारा हम Computer को आपस मे जोड़े कर Data exchange करते है। किसी किसी network मे computer पास पास जुड़े होते है और किसी किसी में दूर दूर, किसी किसी नेटवर्क में दूरी इतनी होती है की वो समंदर के पार होती है। नेटवर्क की Ability की बात करे तो किसी नेटवर्क मे 1 घंटे तो किसी में 24 घंटे connection की सुविधा होती है। इस प्रकार Classification of Network को […]

Transmission Mode

दो जुड़े हुये device के बीच Data transfer या data के flow के direction को Transmission Mode कहते है। Transmission Mode का मतलब  किसी signal के flow direction को परिभाषित करता है जिसमें दो electronic device किस तरह से एक दूसरे से communication कर रहे है। Transmission Mode निम्न 3 प्रकार के पाये जाते है –  Simplex – यह एक simple type का data transmission होता है जिसमें data का Transmission केवल एक ही दिशा में होता है। Sender receiver data को data send तो कर सकता है लेकिन receiver से कोई data प्राप्त नहीं कर सकता। इसका उपयोग Multi […]

Topology

किसी network की आकृति या Layout को Topology  कहते है । किसी topology मे computers या device network मे एक दूसरे से किस तरह connected रह कर एक दूसरे से कैसे communication करेंगे यह topology निर्धारित करता है। Topology दो प्रकार के पाये जाते है, एक logical topology दूसरा Physical topology , उस network की Topology ही निर्धारित करता है की Topology Physical  होगा या Logical मतलब device wire से connected होंगे या wireless से।  किसी network की आकृति या Layout को Topology  कहते है ।  Computer को आपस में जोड़कर उनमें Data की विधि Topology कहलाती है । Topology किसी Network में  Computer के ज्यामितीय व्यवस्था ( Geometric Arrangement ) को […]

Line Configuration

Line Configuration के अंतर्गत दो या दो से अधिक device को link से connect करने या data send करने के तरीके को दर्शाता है। link दो communication device के बीच data transfer करने के एक physical path होता है। यहा पर उसी physical path के connection के तरीके को बताया जा रहा है । जिसमें दो device दो तरीके से जुडते है – 1. Point to Point Connection  2. Multi point Connection  1.  Point to Point Connection – Point-to-Point Line Configuration में केवल दो Device के […]

Standards

किसी device या protocol का एक Standard होना चाहिए जिसे अनुरूप सभी protocol निर्माता , software निर्माता और hardware निर्माता सबका एक Rules हो जिसे सभी Follow करते हुये उस चीज का manufacturing करें, जिससे सभी डिवाइस एक दूसरे को आसानी से communication कर पाये। या किसी Device को दूसरे Device से communicate करने के लिए किसी प्रकार से अलग से Hardware या Software Installation की जरूरत न पड़े । यही आपका Standardization कहलाता है ।               जब standardization नहीं बना था तब कोई भी Device एक दूसरे से Communication कर पाते थे , उनको एक दूसरे […]

Protocols – प्रोटोकॉल के उपयोग

प्रोटोकॉल के उपयोग (Use of Protocols) – OSI और TCP/IP Model में Protocol प्रत्येक लेयर मे पाये जाते है। OSI Model को protocols stack के रूप में जाना जाता है। प्रत्येक layer के प्रोटोकॉल अलग अलग कार्य करते है उनका नियम और प्रयोग अलग अलग होता है। कई ढेर सारे Protocols होते है जैसे – HTTP, HTTPS, FTP, TFTP, SFTP, RTS, RTSP, TelNet, DHCP, IP, TCP, POP3, SMTP, BGP, RIP, EGP, […]

Introduction of Protocol

Protocol क्या है ? Computer Network में Protocol का अर्थ नियमो के समूह से है। Protocol के अंतर्गत massage के format, massage के size, Length और उनके rules को describe करता है। किसी network में connected device एक दूसरे से किस तरह communicate करेंगे ये सब Protocol निर्धारित करता है। Protocol में Network में data Exchange के लिए standard Communication Rules होते है जो सभी डिवाइस को उस Rules को follow करना पड़ता है। Function of Protocol सभी प्रकार के Protocol के द्वारा अलग अलग कार्य किए जाते है और उस कार्य के आधार पर protocol भी अलग अलग […]

Scroll to top